• mail icon8102926611/12/13
  • About IITian's Tapasya - Beginner Education Pvt. Ltd.

    About IITian's Tapasya - Beginner Education Pvt. Ltd.

    समस्त बिहारवासियों को आईआईटियंस तपस्या समूह की तरफ से सादर नमस्कार !!!

    संसथान की शुरुआत 2014 के अप्रैल माह में की गई। स्थापना चार सदस्यों द्वारा गई। 

    संस्थापक सदस्य : आकाश गोयल, प्रशांत चौबे, पंकज कपाड़िया, रितेश सिंह।

    उद्देश्य तथा प्रेरणा - सभी सदस्य बिहार से है तथा 2014 से पहले सभी सदस्य दिल्ली, फरीदाबाद, मथुरा आदि स्थानों पैर आई आई टी जेईई कोंचिंग से जुड़े हुए थे।  हमारे द्वारा दिए गए परिणामों में कुछ विशेष परिणाम है : 2009 में आल इंडिया रैंक २२ (वैभव), 2014 में आल इंडिया रैंक 31 (अनुज मितल) . इन परिणामों ने हमारा हौसला बढ़ाया तथा इससे भी कुछ अच्छा करने की ऊर्जा हमें दी।  हम सभी के मन में अपने प्रवेश  शिक्षा के क्षेत्र में कुछ करने की चाह शुरू से ही थी।  हमें लगा क़ि अब समय आ गया है क़ि अपने प्रदेश के बच्चों के लिए कुछ किया जाय।

    जब हम छात्र थे तब हमने महसूस किया था कि मैट्रिक के बाद प्रतियोगी  परीक्षा की तयारी के लिए ज्यादातर बच्चों को बिहार से बहार जाना पड़ता था।  वर्तमान में भी स्थिति कमोबेश यही है। हमने पटना के कोचिंग संसथान का अध्यन किया और पाया कि संसथान तो बहुत है पैर अच्छी रैंक और परिमाण न के बराबर है।  कही गुणवता नहीं है और अगर गुणवता है तो छात्रों का ध्यान नहीं रखा जा रहा है।

    आई आई टी की तैयारी में विषयों पर पकड़ तो जरुरी है ही इसे साथ साथ छात्रों को मनौवैज्ञानिक प्रशिक्षण देने भी जरूरी है जिसमे उनमें आत्मविश्वाश आए और तयारी का दबाव महसूस न करे।  इन्ही बातों को ध्यान में रखने हुई अप्रैल, 2014 में हमने संस्थान की नीवं रखी।  अप्रैल का माह किसी कोचिंग को शुरू करने के लिहाज से अच्छा नहीं मन जाता।  परन्तु हमें खुद पैर पूरा विश्वास था। हमनें बच्चों पैर बहुत मेहनत की। हमारी मेहनत रंग लाई।  प्रथम बर्ष के परिणाम (2015) में 45 छात्रों में 23 छात्रों को जेईई एडवांस्ड परीक्षा में सफ़लता मिली जो किसी स्थापित सस्थान तक के लिए बहुत बड़े गौरव की बात होती।  हमने समय समय पैर बहुत बदलाव भी किए छात्र हिट को ध्यान में रहते हुए।  मेघावी छात्रों के चयन के लिए हमने टैलेंट सर्च परीक्षा का आयोजन किया। 

    इस परीक्षा  उदेश्य  ऐसे  छात्रों का चयन करना है जिन्हे उचित मार्गदर्शन से आई टी की तयारी करवाई जा सके।  अगर आर्थिक स्थिति सही नहीं है तथा मेघावी है तो उसके अध्ययन  की जिम्मेदारी  भी ली जाती है।  इस परीक्षा की एक बड़ी खोज राहुल है। जिसने लिखित परीक्षा में ज्यादा अच्छा नहीं किया था।  हमने साक्षात्कार की व्यवस्था भी केर रखी है क्योंकि कई बार साक्षत्कार से छात्र के बारे में ज्यादा सटिक  जानकारी मिलती है।  साक्षात्कार में हमें पता चला की राहुल में प्रतिभा है।

    राहुल बेहद ही साधारण परिवार से है।  पिता किसान है।  ने दो साल हमारे साथ कड़ी  मेहनत की।  शुरुआत में उसे अंग्रेजी की वजह से काफी दिक्क़ते आई।  हमारे प्रयास और उसकी मेहनत का नतीजा है कि आज वो आई आई टी मुब्बई में मैकेनिकल इंजीनियरिंग में अध्ययन कर रहा है। 

    संसथान का अपना छात्रवास भी है।  इसमें रहने वाले छात्रों  बिशेष रूप से ध्यान रखा जाता है।  समय - समय पर शिक्षक हॉस्टल जाकर बच्चों की समस्याओं को दूर करते है।  इससे बच्चों का शिक्षक से संबंध  है तथा झिझक दूर होती है।

     

     

    ENQUIRY US

    Get involved, visit our community.